जियो इंस्टीट्यूट का बयां, पहले ही साल में छात्रों से कमा लेंगे 100 करोड़

जियो इंस्टीट्यूट ने सरकार को दिए अपने प्रपोजल में रिलायंस फाउंडेशन के प्रस्तावित जियो इंस्टीट्यूट ने संचालन के पहले वर्ष में लगभग 1000 छात्रों द्वारा ट्यूशन और हॉस्टल फीस से 100 करोड़ रुपये की कमाई का अनुमान लगाया है।

आईआईएससी बंगलोर, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी-बॉम्बे, बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी और मणिपाल उच्च शिक्षा अकादमी के साथ प्रतिष्ठा/उत्कृष्ट संस्थान की मान्यता प्राप्त करने वाला जियो इंस्टीट्यूट एकमात्र ग्रीनफील्ड संस्थान है जो अभी तक पेपर पर है। यह उम्मीद जताई जा रही है कि अब से तीन साल बाद स्टूडेंट्स के पहले बैच को एडमिशन मिलेगा।

इंडियन एक्सप्रेस द्वारा बचाई गई जानकारी में प्राप्त वित्तीय योजना के मुताबिक, जियो इंस्टीट्यूट पहले वर्ष में छात्रवृत्ति के रूप में 38 करोड़ रुपये छूट देगा, जो कि प्रत्येक छात्र पर 6.2 लाख रुपये औसतन हिस्से में आएगा।

पिछले साल BITS को उसके पिलानी, गोवा, हैदराबाद और दुबई में कैंपस में 13,758 स्टूडेंट्स से ट्यूशन फीस और अन्य फीस के रूप में 467 करोड़ रुपये का रेवेन्यू प्राप्त हुआ था। औसतन यह प्रत्येक छात्र से लगभग 3.3 9 लाख रुपये मिले थे।