जान देय की करी कोशिश

masud pura mahila mudda copyजिला महोबा, ब्लाॅक पनवाड़ी, गांव मसूदपुरा। एते के गोल्डी की शादी दो साल पेहले छत्रपाल नाम के आदमी साथे भई हती। जीसे दहेज न मिले के कारन ससुराल वाले आय दिन गोल्डी के साथे मारपीट करत हते। 10 जून आदमी ने मारपीट करी हती। गोल्डी ने अपर एस.पी. खा फोन कर मद्द मांगी। जीसे नगाराघाट चैकी की पुलिस मौके मे पोहच गोल्डी खा बचाओ हे।
गोल्डी कहत हे की शादी के एक साल बाद जेठ जेठानी ओर आदमी दहेज खा लेके ताना देत हते। अगर मे कछू कहत हती तो आदमी छत्रपाल मारपीट करत हतो। मे सहत रही। जभे मारपीट नई सही गई तो हमीरपुर जिला अपने मायके चली गई। ओते मेने कोर्ट मे दहेज प्रथा को मुकदमा लगा दओ। दो महीना बााद पुलिस वालेन ने अपनी जिम्मेंदारी से दुबारा ससुराल भेज दओ। मे ससुराल गई तो जेठ ओर जेठानी ने आदमी छत्रपाल खा लड़ाई कर भगा दओ। मे अकेले रहन लगी। जभे आदमी आओ तो 10 जून खा जेठ जेठानी ओर आदमी ने दुबारा से मारो हे। जीसे मोये काफी चोट आई हे। मेने महोबा अपर एस.पी. खा फोन कर सब बात बताई। तभई नागाराघाट चैकी की पुलिस गई ओर आदमी खा पकर लाई। पुलिस ने आदमी छत्रपाल खा मार दओ जीसे छत्रपाल कुआं में कूछ के जान देत हतो।
आदमी छत्रपाल कहत हे की ओरत गोल्डी ने मोई केऊ दइयां परिवार वालेन से गाली गलौज अेर मारपीट कराओ हे। जेल भी भेजवा दओ हे। एई से मे कुआं मे कूद गओ हतो। मे गोल्डी खा नई राखे चाहत हों।
नगाराघाट चैकी इन्चार्ज गंगाधर कहत हे की हम गंगाधर खा समझाउत हते तो ऊ हमसे उल्टी सीधी बात कर लड़ाई करे खा तैयार हतो। एई से मेने दो थप्पड़ मार दये।

रिपोर्टर – सुरेखा राजपूत