ज़मानत नामंज़ूर

 

(फोटो साभार: विकिमीडिया)
(फोटो साभार: विकिमीडिया)

बेंगलुरू, कर्नाटका। 7 अक्टूबर को बेंगलुरू हाई कोर्ट ने तमिल नाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की ज़मानत को नामंज़ूर कर दिया। जयललिता देश की पहली मुख्यमंत्री हैं जिन्हें पद पर होते हुए 27 सितंबर को चार साल जेल की सज़ा सुनाई गई थी।
आय से अधिक संपत्ति मामले में बेंगलुरू शहर की जेल में रह रही जयललिता को ना सिर्फ जेल हुई पर वे 2016 में होने वाले विधानसभा चुनाव भी नहीं लड़ पाएंगी। उनकी ज़मानत के नामंज़ूर होने के बाद एक बार फिर तमिल नाडु में उनके हज़ारों समर्थकों की आशा टूट गई और राज्य में शोक का माहौल बन गया। माना जा रहा है कि अब जयललिता को सुप्रीम कोर्ट में ज़मानत की अजऱ्ी डालनी पड़ेगी।