जर्जर बिजली का टूट तार, एक जने के भे मउत

सड़क जाम खुलै के बाद आपस मा बातचीत करत गांव के मड़ई
सड़क जाम खुलै के बाद आपस मा बातचीत करत गांव के मड़ई

जिला बांदा, ब्लाक महुआ, गांव रिसौरा। हेंया 12 अगस्त 2014 का बिजली के करेंट से नर्वदा तिवारी के मउत होइगे। यहिसे गुस्सान गांव वाले लगभग पांच घंटा सड़क जाम करिन। घटना के समय मौके मा पहंुचे जिला मजिस्टेªट, नरैनी एस.डी.एम. तहसीलदार अउर सी.ओ. कारवाही का भरोसा दइके अउर जाम खुलाइन।
गांव का राजू बतावत है-“रात मा ग्यारह हजार पावर वाली बिजली के तार टूट गे रहंै। बिजली विभाग वालेन का रात मा ही बिजली काटै खातिर फोन से सूचना दई दीन रहेन, पै उंई बिजली कटैं मा लापरवाही करिन रहंै। नर्वदा सुबेरे लगभग सात बजे साइकिल से अपने घर जात रहै। वहिके साइकिल मा तार फंस गें अउर दरे मा नर्वदा के मउत होइगे। मउत के बाद भी दुई बार बिजली आई है।“ ब्रजेश अउर कल्लू कहत हैं कि या बहुतै खतरनाक घटना भे है। इं जरजर तार आय दिन टूटत हैं। लगभग एक महीना पहिले पनगरा गांव मा भी बिजली के तार टूटैं से एक जन के मउत होइगे रहै।
नरैनी एस.डी.एम. प्रबुद्ध सिंह कहत हैं कि पोस्टमार्टम रिर्पोट आवैं के बाद वहिके आर्थिक सहायता अउर कृषि बीमा के लाभ खातिर फारम भरावा जई। बिजली विभाग का रिपोर्ट भेजी जई। बिजली विभाग के अधिशाषी अभियंता का जरजर तार सही करावैं का कह दीन गा है। बिजली विभाग के अधिशाषी अभियंता कमलेश कुमार कहत हैं कि हमरे विभाग से एक लाख रूपिया दे का नियाम है, तौ वहिके कारवाही चलत है।