जरजर इमारत आज गिरै कि काल

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, कस्बा करतल। हेंया के राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय के इमारत लगभग दुई साल से बन के तैयार होइगे है, पै खिड़की अउर बिजली बिना होंआ अस्पताल नहीं चलत आय।
अस्पताल के फार्माशिष्ट विजय शंकर पयासी बतावत है कि हम लोग या ग्राम सभा के कालोनी मा पचास साल से अस्पताल चलावत हन। हेंया 12 कालोनी रहैं सब कोऊ निकर के चला गा है। अब या ग्राम सभा के कालोनी यतनी जरजर है कि आज गिरैं कि काल। हम लोग अस्पताल के भीतर नहीं बइठत हन। लगभग पचीसन गांव का मड़ई इलाज करावैं आवत हैं । पूरी अस्पताल के इमारत बन गे है अउर हैण्डओवर भी होइगे है, पै खिड़की अउर बिजली बिना ठेकेदार हमका लटकाये है। अगर इं सुविधा होई जाय तौ वहै अस्पताल मा बइठन।
ठेकेदार कमलेश कुमार पटेल कहत है कि बिजली विभाग मा कइयौ दरकी कहे हौं उंई बिजली फिटिंग नहीं करत आय। खिड़की मैं यहिसे अबै नहीं लगवायेंव कि लड़का शीश फोड़ देहैं। बिजली लाग जाय तौ खिड़की मोरे पास खरीदी धरी है तुरतै लगवा देहूं।