जमीन ने ली जान देखिये महोबा जिले के लुहेड़ी गाँव में ऐसा क्या हुआ

महोबा जिले के श्रीनगर कोतवाली क्षेत्र के लुहेड़ी गांव की पार्वती का आरोप है कि 24 जनवरी को मेरे पति देशराज अहिरवार का शव फांसी पर लटका हुआ मिला था। जमीन के झगड़े में परिवार वाले प्रधान से मिलकर मेरे पति की हत्या की है।
पार्वती का इस घटना के बारें में कहना है कि मेरे पति दिल्ली में मजदूरी करते थे।गांव में अपना घर बनानें के लिए आये थे। देवर,जेठ और जेठ का लड़का ख रहे थे कि तुम्हें जमीन में कोई हिस्सा नहीं मिलेगा किन्तु हम अपना हिस्सा लेना चाहते थे। इस बात का फैसला करने के लिए सभी लोग प्रधान के पास गये। तीन घंटे बाद वापस आकर मेरे पति ने बताया कि प्रधान दो लाख रूपये मांग रहा है और कह रहा है कि रूपये नहीं दोगे तो घर नहीं बना पाओगे। मुझे मारा भी है। तब मैं अकेले रिपोर्ट करने चली गई तो देवर जेठ ने मिलकर मेरे पति को मार डाला हैं। जब मैं वहां से वापस आयी तो पुलिस ने मेरे पति की लाश बाहर रख डी थी। लाश के शरीर में कोई  चोट के निशान नहीं थे, न मुंह से लार निकल रही थी न जीभ निकली थी और फांसी की रस्सी बिलकुल ढीली थी। देशराज के बेटे राजेश का कहना है कि जब हम पहुंचे तो पुलिस ने लाश को सील कर दिया था। एसपी एन. कोलांची का कहना है कि आत्महत्या का केस आया है लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।पत्नी ने हत्या की रिपोर्ट लिखाई है, छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद निष्पक्ष कारवाही की जायेगी।

रिपोर्टर- सुनीता प्रजापति

Published on Jan 29, 2018