जमीन खाली रहतई त नाली बनायल जतई

चापाकल के पानी सड़क पर
चापाकल के पानी सड़क पर

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड रीगा, पंचायत रीगा प्रथम, गांव रामनगर। उहां के लगभग पच्चीसों आदमी कहलथिन कि इहां नाला न रहे के कारण हमरा सब के बड़ा परेशानी होईय। इहां तक कि चापाकल के पानी भी सड़क पर बहईत रहलईय।
उहां के मंगर पासवान, जसिया देवी, रामलाल पासवान, रूदल राम सब कहलथिन कि इहां नाला न रहे से हमरा सब के बड़ा दिक्कत होईय। इहां तक कि चापाकल के भी पानी सड़क अउर दुरा पर बहे लगई छई। जेई कारण गाड़ी, मोटरसाईकिल से लेके आदमी के भी आवे जाये में दिक्कत होई छईं नाला बन जतियई त बहुत सुविधा हो जतियई।
मुखिया उषा शर्मा के पति सुनील शर्मा कहलथिन कि उहां लोग सड़क तक जमीन पकड़ के घर बना लेले छथिन। सड़क के दुनु तरफ तीन-तीन डीसमिल जमीन हई। लोग खाली करथिन त नाली बनायल जतई। ऐई के लेल ओई गांव में बैठक भी कयले रही।
अंचल अधिकारी सूर्यकांत प्रसाद कहलथिन कि भूमीहीन या जेकरा पास जमीन हई उ लोग कब्जा कयले छथिन। इ जांच कयला के बाद बिहार सरकार के जमीन होतई त खाली कयला के बाद नाली बनायल जतई।