जब कोटेदार ही काटे राशन, तब ललितपुर जिले के कुम्हैड़ी गाँव निवासी कहां जाए?

जिला ललितपुर, ब्लाक महरौनी, गांव कुम्हैडी गरीबी और भुखमरी को दूर करबे के लाने कम रुपईया में राशन देबे की योजना बनाई। लेकिन जाको लाभ भी सही तरीका से गरीब आदमियन के पास नइ पहुच रओ।
कुम्हैडी गांव के आदमियन को आरोप हे के कोटेदार उने राशन नइ देत। कछू आदमियन के पास तो परमिट भी नइया।
जानकी ने बताई के हमाओ परमिट तो चार साल से कोटेदार ही रखे आज तक दओ ही नइया। प्रकाश ने बताई के हमे चार पांच साल से राशन ही नइ मिल रओ कछू परमिट ही नइया हमाओ। कत के लिस्ट में नाम ही नइया तुमाओ।
गुड्डी ने बताई के जेसे परेशान अबे हो रए एसे ही परेशान होत हर बार तेल देत अकेलो। और बीस रुपइया किलो चावल लेयात दुकान से सो बेइ बना खा लेत एक दिना होबे तो बात अलग हे। कब तक का कर हे गरीब आदमी।
भगवती ने बताई के कोटेदार के पास जाओ तो कत के जाओ परमिट ले आओ सो हम तुम्हे दे रए राशन।
सुरेन्द्र कुमार राठौर सप्लाई विभाग स्टेनो ने बताई के कुम्हैडी गांव से तीन दरख़ासे आई थी हमने उन्हें ब्लाक में भेज दई। जल्दी ही उनके परमिट बन जेहे।

रिपोर्टर- सुषमा

18/04/2017 को प्रकाशित