जनता मंगई छई जवाब

DSC03337
डी. एम. डॉ. प्रतिभा कुमारी

छपरा अउर मधुबनी में भेल मध्यान भोजन के घटना के बाद पुरा जिला दहसत में हई। हर ओर मध्यान भोजन के जांच चल रहल हई। यई के लेके खबर लहरिया टीम कुछ लोग अधिकारी से बात कलथिन।
डुमरा के सुशील कुमार, मुन्नी देवी, सीता देवी कहलथिन कि दिन प्रति दिन अब खाली विद्यालय में घटना पर घटना हो रहल हई। बच्चा अब खाना न खतई सरकार मिड डे मिल बन्द करे अउर उ रूपईया जोड़ के छात्रवृति के रूप दे। सीतामढ़ी जिला के डुमरा प्रखण्ड के बिसनाथपुर चौक गीता भवन में मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक अउर शिवहर जिला के प्रधानाध्यापक अच्छेलाल राम कहलथिन कि मध्यान भोजन के जगह पठन पाठन के समान देल जतई त बढि़या रहतई। तरियानी प्रखण्ड के साधन सेवी मदन मेहरा अउर मध्यान भोजन प्रभारी धु्रजित प्रसाद सिंह कहलथिन कि मध्यान भोजन बनावे के प्रक्रिया के  जाँच  चल रहल हइ। एई जिला में लगभग पन्द्रह बीस गो विद्यालय देखल गेलई। जेई कोनो गरबरी न पायल गेलई ह।
विद्यायक रंजू गीता कहलथिन कि मध्यान भोजन केन्द्र सरकार अउर राज्य सरकार के योजना हई। अगर राज्य सरकार के योजना रहतीयई त मुख्यमंत्री के कह के एई योजना राशी बच्चा सब के पोषाक राशि, छात्रवृति, साईकिल योजना में दिलबइती ताकि बच्चा के पढ़ाई में भी सुधार होइतई।
जिला पदाधिकारी प्रतिभा कुमारी कहलथिन कि मध्यान भोजन के घटना से सब लोग के दुःख हई। कयला कि कतेक मासूम बच्चा के मौत हो गेलई अउर पटना पी.एम.सी.एच में भरती हई। लेकिन हम अपना जिला में मध्यान भोजन के निगरानी के लेल जिला शिक्षा पदाधिकारी के आदेश दे देलीय।