जजी परिसर मा राष्ट्रीय मेगा लोक अदालत

b kasba se mega lok adalatजिला बांदा। 12 दिसंबर का जजी परिसर अउर तहसील मा राष्ट्रीय मेगा लोक अदलात का आयोजन जिला जज गुरूशरण श्रीवास्तव के अध्यक्षता मा कीन गा। कुल छत्तीस हजार पांच सौ सैतालिस मुकदमा आयें। जेहिमा छब्बीस हजार नौ सौ तैंतालिस मुकदमा सुलह समझौता से निपटा दीन गें।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण प्रेस विज्ञप्ति के जरिए बतावा गा कि मोटर दुर्घटना, वैवाहिक भरण पोषण,रेलवे लघु आपराधिक, राजस्व अउर बैंकन से जुड़े मुकदमा का निस्तारण अलग-अलग जज करिन। साथै किसानन के कर्ज कम करैं का समझौता किसानन के साथै कीन गा। पीडि़त पक्ष का बीमा कम्पनी से रूपिया देवावा गा। अउर कुछ मुकदमा अर्थदण्ड (रूपिया भरै के सजा के जरिए निपटाए गें।
ब्लाक कमासिन, गांव मुसीवां। हेंया के जगन्नाथ राष्ट्रीय लोक अदालत मा के्रडिट कार्ड मा लीन कर्ज का निपटारा करावैं आय रहैं। जगन्नाथ बताइस-“ मैं पांच साल पहिले के्रडिट कार्ड मा पच्चीस हजार रूपिया का लोन इलाहाबाद यू.पी. ग्रामीण बैंक शाखा पछौंहा से लीन रहौं। या कर्ज ब्याज समेत बढ़ के छत्तीस हजार तीन सौ चैरानबे रूपिया पंचानबे पैसा (36394.95 रूपिया) होइगा है। बैंक कइत से या रूपिया भरैं मा समझौता करैं खातिर 10 दिसंबर का नोटिस भेज के लोक अदालत मा बोलावा गा। अब बैंक वाले का समझौता करैं चाहत हैं। कुछ समझ मा नहीं आवत आय।”
ब्लाक बड़ोखर खुर्द, गांव हटेटी पुरवा। हेंया के गोपाल का कहब है कि भारतीय स्टेट बैंक शाखा बांदा से के्रडिट कार्ड के तहत 2008 मा तीस हजार रूपिया कर्ज लीने रहौं। मैं कुछ कर्ज भर दीनंेव अउर कुछ बाकी रहै। बैंक कइत से 10 दिसंबर का सत्ताइस हजार अड़तिस रूपिया का नोटिस भेजा गा है।
डी.एम.सुरेश कुमार, एस.पी. आर.पी.पाण्डेय,डी.आई.जी. ज्ञानेश्वर तिवारी समेत जिला के अधिकारी लोक अदालत का जायजा लिहिन है।