जगह- जगह टूटे और लटकते तारों से महोबा जिले के चरखारी ब्लॉक के लोग ही नहीं, अधिकारी भी हैं परेशान

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव भैसारी इते के आदमी जघा जघा लटके और टूटे डरे तारन से परेशान है। जे ई प्रवीन कुमार के अनुसार पुरे ब्लाक को जाल की जरुरत हे लेकिन उनको केबो हे के उपर से ही नई आ रओ सामान।
अमान सिंह ने बताई के हमाय ते 2010 में लाइट लगी ती। लेकिन जबई से नंगे तार डरे जे तारन से एक मोड़ा भी मर गओ और केऊ आदमियन को करेंट लग गए। जा से सबको डर रत के कबहु कोनऊ हादसा न हो जाबे मोड़ी मोड़ा और ड़ोर बछेउ सबको खतरा हें।
भारत सिंह ने बताई के हम सोच रए के जाल लग जाबे तो सबको फायदा हें। भोत दिना हो गये लेकिन कोनऊ वयवस्था नई भई उन तारन की जब पानी बरसत तो कउ लाइन फाल्ट होत तार टूट जात तो डर रत के कोनऊ को कछु हो न जाबे जाके मारे बच्चन को भी नई जान देत। कितऊ और सब गांव वालेन ने बिजली बिभाग में एस डी एम से एस डी ओ से सबसे शिकायत करी दरखास भी दई सब कह देत के हो जेहे हो जेहे लेकिन अबे क नई भओ।
रजनी ने बताई के चिंता लगी रत के सबको आबो जाबो हे कम से कम से छह सात गांव को और कब तक बच्चन को बाहार नई निकर देहे। सब आदमियन ने बिजली बिभाग में जा के शिकायत भी करी लेकिन कोनाऊ सुनवाई नई हो रही।
राजेंद्र साहू ने बताई के एक हादसा हो गओ छह सात महीना पहले। पानी बरसो सो तार टूट गओ और टूट के रोड पे गिर परो रोड में भरो तो पानी सो पूरे में करेंट आ गओ। फिर उपर से पूरी लाइट बंद करवाई एक आदमी को करेंट भी लग गओ।
किशोरी लाल ने बताई के जिते डी पी लगी उते एक मोड़ा ख़तम हो गओ जब से बा के तार निकार दये और बिजली बिभाग गये केऊ बार लेकिन कोनऊ सुनवाई नई भई।

रिपोर्टर- सरोज 

19/09/2016 को प्रकाशित

जगह- जगह टूटे और लटकते तारों से महोबा जिले के चरखारी ब्लॉक के लोग ही नहीं, अधिकारी भी हैं परेशान