चौदह साल से जमा है कूड़ा, खतरा मा मलिन बस्ती

1जिला बांदा। मोहल्ला मर्दननाका पूर्वी, वार्ड नम्बर सात, मलिन बस्ती। हेंया का नाला कूड़ा से पट गा है। या नाला मा सीवर का मलबा, प्लास्टिक के पन्नी अउर पूरे शहर के गंदगी नाला मा जमा है। रहैं वाले बाल्मीकि परिवार के मड़ई नगर पालिका मा अंतिम दरखास मार्च 2014 मा दरखास दिहिन हैं।
गोपाल, दुर्गा, बाबूलाल, दुर्गा, राजा अउर माया देवी का कहब हैं कि या नाला मा पूरे शहर का कूड़ा बहिके आवत है। सात फुट गहरा अउर चार फुट चैड़ा नाला है। या मोहल्ला मा लगभग तीस घर बाल्मीकि जाति के रहत हन। पूरे शहर के सफाई हम करत हन अउर हम ही गन्दगी मा रहैं का मजबूर हन।
सुशीला, शिमला अउर बाबूलाल कहिन जबै से नाला बना तबै से दुई दरकी सफाई भे है। बरसात मा गंदा पानी नाला के ऊपर से बहिके घरन मा घुसत है। वार्ड सदस्य तौफीक अंसारी कहिन कि या मोहल्ला कहां है, पता ही निहाय। सफाई इंसपेक्टर निरंजन कहिन कि उनका या समस्या के बारे मा पता निहाय। नगर पालिका अधिशाषी अधिकारी वीरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव कहिन कि अब पता चला है तौ होंआ के सफाई कराई ही जई। पत्रकार जबै उनसे या पूछिन कि यतने दिन से सफाई काहे नहीं भे यहिकर जवाब उनके पास नहीं रहा आय। नाला बना-1999   सफाई भे- दुई दरकी आबादी- करीब ढ़ाई सौ वोटर जाति-बाल्मीकि समस्या के शिकाइत कीन गे-लगभग दस दरकी कारवाही कीन गे-जीरो दरकी