चोरी से कर लई दूसर शादी

रेशमा
रेशमा

महोबा शहर, समद नगर। एते की रेशमा खातून आपने जिन्दगी के बारे में कछू एसो बताउत हे।
रेशमा ने कहो कि मोई शादी आठ साल पेहले हमीरपुर जिला के मौदहा कस्बा के इस्लाम नाम के आदमी साथे भई हती। जभे से मोई शादी ऊखे एक साल के बाद ससुराल वाले मोये साथे मारपीट करन लगे। मोये एक लड़का हतो तो में मारपीट ओर गाली गलौज साहत रही। जभे मोसे नई सहो गओ तो मंेने घरेलू हिंस्सा को मुकदमा लगा दओ हतो। ऊखे बाद इस्लाम राजीनामा कर मोये ससुराल लेवा गओ हतो। मोये एक लड़का ओर हो गओ हे। ऊखे बाद ससुराल वाले फिर मोये 5 जनवरी 2015 खा मारपीट करन लगे। जीसे में अपने दोनऊ लड़कन खा छोड़के मायके चली आई हती। आदमी इस्लाम ने 7 जनवरी खा दूसर शादी कर लई हे। में अब मौदहा जात हों तो सास मुन्नी भीतर नई घुसे देत हे। गली गलौज करत हे, लड़कन से बात नई करें देत हे। कहत हे कि तोओ लड़का एते नइयां, पता नई ते किते छोड़ आई हे।
रेशमा को आदमी इस्लाम बताउत हे कि ऊने समझौता में तालाक ले लओ हतो। हम मुस्लिम जाति हे। एई से शादी कर लई हे ओर में अब ऊखे काय राखहों।