चोरन कै बढ़ा मनोबल

CCTV camraजिला के हर तरफ चोरी-चोरी जब देखा सुना तबै पता चलाथै कहू बैंक मा चोरी, मंदिर मा मूर्ति कै चोरी कहू केहू से रंगदारी मांगा जाथै। पता नाय चलत चोर कहां भागी जाथिन।
आखिर पता कइसे चले पुलिस प्रशासन तौ देखावटी मा बोर्ड लगाए दिहे हईन। तोहरे सब सी.सी.टी.वी. कैमरा कै नजर मा बाटे। जब चोरी होई जाथै। कैमरा कै निगरानी कई जाथै तौ कहू सी.सी.टी.वी. कैमरा नजर नाय आवत। यहि हाल अम्बेडकरनगर अउर फैजाबाद जिला मा भी बाय। शहजादपुर मा बीड़ी मैनेजर से सैतिस लाख रूपया कै लूट भै रहा। जगह-जगह बोर्ड दिखावटी मा लाग बाय। कैमरा कै नजर मा बाय।
अहिरौली थाना पै दुई बोर्ड लाग बाय। सी.सी.टी.वी. कैमरा कै बारे मा खबर लहरिया कै पत्रकार पूछिन कि कैमरा कहां लाग बाय तौ पता चला कि एस.ओ. के गाड़ी मा कैमरा लाग बाय। जगह-जगह जइसै बोर्ड देखावटी मा लाग बाय। वइसै मेन-मेन जगह सी.सी.टी.वी. कैमरा शासन प्रसाशन लगवाए देत तौ शायद यतना चोेरी न होत। लकिन शासन प्रसाशन यतना ध्यान काहे नाय देत?