चैरासी घंटे लगातार थिरके पैर मगर रिकाॅर्ड से चूकी

soni curasiyaबनारस। मैराथन के नृत्य वर्ल्ड रिकाॅर्ड बनाने के लिए बनारस की सोनी चैरसिया 14 नवंबर को कथक करने के लिए आर्य महिला पीजी काॅलेज के स्टेज पर उतरी थीं। उन्हें एक सौ चैबीस घंटे तक नाचना था। सोनी को केरल की नृत्यांगना मोहिनी अट्टम का एक सौ तेइस घंटे पंद्रह मिनट का रिकाॅर्ड तोड़ना था। हर चार घंटे में कुछ मिनटों का आराम फिर शुरू होता था उनका सफर। उनके हौसले देखकर लग रहा था कि रिकाॅर्ड उनके नाम होकर ही रहेगा। मगर 18 नवंबर तक चैरासी घंटे तक थिरकते पैर धीरे-धीरे सुस्त पड़ने लगे। अभी छत्तीस घंटे का सफर और बाकी था। मगर उनके पैरों ने जवाब दे दिया। इससे पहले सोनी ने लगातार 24 घंटे नृत्य करके लिम्का बुक में अपना नाम दर्ज करवा लिया है।
सोनी चैरसिया एक सामान्य वर्ग के परिवार से ताल्लुक रखती हैं। सोनी के पिता श्यामचंद चैरसिया पान की दुकान लगाते हैं। सोनी ने 2004 में आर्य महिला से स्नातक किया। उसके बाद बी.एच.यू. से कथक में डिप्लोमा किया है। इसके बाद इलाहाबाद से कथक में उपाधि प्राप्त की है। सोनी की सेहत और सुरक्षा के लिए बनारस के डीएम राजमणि यादव ने पांच  दिनों के लिए 29 शिक्षा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई और उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी और अन्य लोगों को तैनात किया था।
पहले दिन सोनी ने लगातार आठ घंटे तक नृत्य किया इसके बाद केवल दस मिनट का ही ब्रेक लिया। जबकि नियम के अनुसार सोनी हर चार घंटे में बीस मिनट का बे्रक ले सकती हैं।