चुनाव 2017: पंजाब में 75% और गोवा में 83% रिकॉर्ड मतदान

चुनाव आयोग के अनुसार, पंजाब और गोवा में भारी मतदान हुआ जहां अनुमानत: 75 प्रतिशत और 83 प्रतिशत रिकार्ड मतदान दर्ज किया गया और इस तरह से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव का पहला दौर कुल मिलाकर शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ।
गोवा की सभी 40 सीटों पर ईटीपीबीएस (इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम) का इस्तेमाल किया जा रहा है जबकि पंजाब में 117 में से केवल पांच सीटों पर इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। इसमें जालंधर पश्चिम, आत्मानगर, लुधियाना पूर्व, लुधियाना उत्तर और अमृतसर उत्तर विधानसभा सीट शामिल हैं।
इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम तकनीक की सहायता से अपने राज्य से दूर नौकरी कर रहे मतदाता इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से डाक मतपत्र डाउनलोड कर वोट दे सकते हैं।
ईवीएम में इस बार चुनाव निशान के साथ प्रत्याशी की तस्वीर भी लगाने की व्यवस्था की गई है। ताकि अगर एक ही नाम से अगर दो उम्मीदवार मतदान में हो तो वोटर भ्रमित न हो।
वीवीपीएटी इसमें इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन के साथ एक प्रिंटर जैसी मशीन लगाई जाती है जो वेरिफिकेशन रसीद जारी करती है जिसपर क्रमांक, नाम, प्रत्याशी का नाम एवं चुनाव चिन्ह अंकित होगा। इससे यह सत्यापित किया जा सकेगा कि मतदाता द्वारा उसकी इच्छानुसार ही मतदान दर्ज हुआ है।
चुनाव आयोग ने गोवा में एक नया प्रयोग किया है। हर विधानसभा इलाके में एक बूथ, महिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा संचालित होगा। इस बूथ को पिंक बूथ का नाम दिया गया है। साथ ही पहली बार मतदान करने वाली महिला वोटर को गुलाबी टेडी बियर उपहार में दिया जाएगा।
चुनाव आयोग के अनुसार, इस चुनाव में पहली बार 100 प्रतिशत वोटरों के पास वोटर आईडी कार्ड हैं।
गोवा में रिकार्ड 83 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। 2012 के विधानसभा चुनाव में गोवा में 81.8 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था।
पंजाब में 117 सीटों के लिए कुल 1145 उम्मीदवार मैदान में हैं जबकि गोवा की 40 सीटों के लिए 250 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं।
बताते चलें कि पंजाब और गोवा में विधानसभा चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होगा। इन तीन राज्यों में चुनाव इस महीने के बाद में शुरू होगा और यह मार्च तक खिंचेगा।