चुनाव परा भारी, नहीं रहैं का मिलत गांव मा

Exif_JPEG_420जिला बांदा, ब्लाक महुआ, गांव खरौंच। या गांव मा पटेल अउर ब्रहाम्ण पार्टी के बीच भे चुनाव मा ग्राम प्रधान के पद मा शिवनरयाण पटेल के जीत का पारिणम आवा। तबै से चुनाव हार जाय वाली पार्टी के कारन गरीब लोगन का गांव मा रहब मुश्किल है।
कतौ उनके जानवर छोरे जात है, तौ कतौ मारपीट अउर घर मा घुस के औरतन साथै छेड़खानी कीन जात है। पुलिस प्रशासन शिकायत मिलैं के बाद भी कउनौ कारवाही नहीं करत आय।
गांव के नत्थू यादव का कहब है कि हमरे गांव मा पण्डितन का बाहुबल है। उंई 20 साल से बराबर प्रधानी करत आय अउर गांव के गरीब जनता से बंघुवा मजदूरी करावत रहैं। या दरकी के चुनाव मा हम खुला कही दीन रहै कि तुमका वोट न देइबे। हम गरीब लोगन का कुछ नहीं मिलत आय। अब हम उनके घरन का काम नहीं करत आहिन। मनरेगा मा काम करित हन अउर हमरे साथै मारपीट करत है। 15 मई का मैं आटा लइके आवत रहौं तौ कुल्हाड़ी से मारिन हैं,पै पुलिस आज तक नहीं उनका पकड़िस आय।
छंग्गू अउर वहिके औरत प्यारी कहत है कि नवम्बर के महीन मा पत्ता खेलै का लइके मोरे लड़का के तीन जघा से मार के चाभ टोर दिहिन रहैं। जेहिका मुकदमा कोर्ट मा चलत है। वही मुकदमा के राजी होय खातिर हमरे साथै मारपीट करत हैं। 15 मई का दुपहरी के लगभग बारह बजे मोरे घर मा घुस के रोहित पुत्र बच्चा छेड़खानी अउर मार पीट करिस है। दुआरे मा सौ मड़ई ठाढ़ देखत रहैं अउर मैं भीतर रोवत चिल्लात रहेंव, पै कउनौ के हिम्मत नहीं भे कि उनका सामना कइ सकैं। यहै कारन है कि कइयौ लोग गांव तक छोड़ दिहिन हैं।
प्रधान शिवनारायण का कहब है कि चुनाव के बाद से गांव मा आय दिन घटना होत है। मैं नरैनी कोतवाली से लइके बांदा एस.पी. तक लोगन का लइके दरखास दीन हौं, पै सुनवाई निहाय अउर मोहिका जान से मारैं खातिर सुन्दर लाल त्रिपाठी का परिवार 10-10 रुपिया का चन्दा करिस है। मै रात के खुद गांव छोड़ देत हौं।
नरैनी कोतवाली मुंशी कहत है कि खरौंच गांव के नत्थू के रपट लिखी है। आरोपी का पकडैं के कोशिश जारी है। कइयौ दरकी गांव गे हन, पै मिलत निहाय।

रिपोर्टर – गीता