चुनाव नजदीक, बेंगलुरु में मिले दस हजार वोटर कार्ड

साभार; विकिपीडिया

बेंगलुरु के राज राजेश्वरी इलाके में एक घर से 9746 वोटर आईडी कार्ड बरामद हुए हैं। इसके साथसाथ वहां वोटर लिस्ट से जोड़े जाने वाले फॉर्म भी लाखों की संख्या में मिले हैं। लेकिन ये फॉर्म असली हैं या नहीं इसका पता जांच के बाद चलेगा। चुनाव आयोग ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। शुरूआती जांच में ये सभी कार्ड असली लग रहे हैं।
इतनी बड़ी संख्या में वोटर आईडी कार्ड मिलने बाद अब बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। वहीं चुनाव आयोग के एक अधिकारी के मुताबिक, वो खुद उस घर पर गए, जिस घर से ये कार्ड बरामद हुए हैं। इस दौरान वहां से पांच लैपटॉप और कुछ प्रिंटर भी मिले हैं।
बीजेपी ने आरोप लगया है की राज राजेश्वरी सीट से कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी ने 15,000 फर्जी वोटर कार्ड बनवाए हैं। बीजेपी ने चुनाव आयोग से वहां के चुनाव को रद्द करने की मांग की है। बीजेपी नेता सदानंद गौड़ा ने आरोप लगाया की कांग्रेस पार्टी अधिकारियों पर दवाब बनाकर मतदाता सूची में फर्जी नाम जुड़वा रही है।
वहीं कांग्रेस पार्टी ने पलटवार करते हुए कहा की जिस मकान से ये वोटर कार्ड मिले हैं वो मकान बीजेपी नेता मंजुला नजामरी का है और इस घर का किरायेदार राकेश भी उन्हीं का बेटा है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुछ दस्तावेज पेश करते हुए कहा की राकेश बीजेपी के टिकट पर ही चुनाव लड़ा था। ये सब साजिश कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने के लिए है।