चित्रकूट में सुनाई देगी बाघ दहाड़

tigerलखनऊ। राज्य के चित्रकूट जिले में स्थित रानीपुर वन्य जीव अभयारण्य ( कई तरह के जंगली जानवरों को जहां उनके प्राकृतिक वातावरण में रखा जाता है) के जानवरों को जल्द ही उनका नया दोस्त मिल जाएगा। यह दोस्त कहीं और से नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश के पन्ना वन्य अभयारण्य से आएगा। जल्द ही बाघों की दहाड़ यहां सुनाई देगी। यह पूरा काम प्रोजक्ट टाइगर यानि बाघों को बचाने के लिए शुरू की गई योजना के तहत किया जाएगा। रानीपुर वन्य जीव अभयारण्य में अभी तक चीता, काले हिरण, भालू और बारह सिंघा हैं। उत्तर प्रदेश वन विभाग के अधिकारियों की मानें तो मध्य प्रदेश के बाघ को उत्तर प्रदेश में लाने की कागजी कार्रवाई पूरी हो चुकी है। इसके साथ ही रानीपुर वन्य अभयारण्य तक लोगोें की पहुंच बनाने के लिए वहां तक जाने वाली सड़कों को भी विकसित किया जाने का काम भी जल्द शुरू हो जाएगा। पन्ना वन्य अभयारण्य से रानीपुर वन क्षेत्र के बीच की दूर सिर्फ डेढ़ सौ किलोमीटर है। कोशिश यह भी की जा रही है कि पन्ना घूमने आने वाले लोगों को रानीपुर आने के लिए प्रेरित करने की भी कोई आकर्षक योजना बनाई जाए।