चित्रकूट में डिलवरी में बच्चे की जान चली गई, सीएमओ कहतें हैं सज्ञान नहीं थे

जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, गांव सोनेपुर स्वास्थ्य विभाग लापरवाही करे से नहीं मानत आय। यहै कारन आये दिन कउनौ न कउनौ के जान चली जात हवै।यहिनतान 10 जून का पूजा के लड़का पैदा भा रहै अउर 14 जून का वहिके मउत होइगे हवै।जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, गांव सोनेपुर स्वास्थ्य विभाग लापरवाही करे से नहीं मानत आय। यहै कारन आये दिन कउनौ न कउनौ के जान चली जात हवै। यहिनतान 10 जून का पूजा के लड़का पैदा भा रहै।अउर 14 जून का वहिके मउत होइगे हवै। पूजा के परिवारवालेन का कहब हवै कि डाक्टर के गलत दवाई के कारन बच्चा के जान गे हवैं। सी.एम.ओ राम जी पाण्डेय कहत हवै कि हमें या घटना के कउनौ जानकारी नहीं आय।जांच कराई जई। पूजा का ससुर कामता अउर सास समुद्री बताइन  कि डिलेवरी के समय नर्स बाहर से दवाई मंगाइन रहै वहै दवाई के कारन बच्चा के जान गे हवै। जबै बच्चा का रिफर  कइ दिहिन तौ कानपुर लइ गये हन हुंवा के डाक्टर बताइन कि आपरेशन वाली दवाई दीन गे हवै जेहिसे बच्चा के मुड़े मा सगले निशान बने रहै अउर बच्चा पानी पी गा हवै। बच्चा तीन दिन जिंदा रहा हवै रुपिया के चक्कर मा नर्स सोचत हवै कि हमरे ड्यूटी मा बच्चा पैदा हो यहै कारन उंई जल्द बाजी करत हवै। पूजा के ननद अनीता बताइस कि हमसे बिना पूछे नर्स दवाई रख दिहिन रहै यहै कारन बच्चा के मउत भे हवै। पूजा बताइस कि जबै डिलेवरी होत रहै तौ नर्स हमें खूब डांटत रहै अउर कहत रहै भगा देबैं। सी.एम.एस ए.के गुप्ता का कहब हवै कि अस्पताल मा डाक्टर के कमी हवैं। जांच खातिर टीम बनाई जई। अउर या घटना के जांच कराई जई।

रिपोर्टर- नाजनी रिजवी

Published on Jun 29, 2017