चित्रकूट जिले में बीडीओ लोगों को खोजकर दे रहे हैं काम, फिर भी दस साल से बेरोजगार हैं मजदूर

सरकार सौ दिन मनरेगा का काम दे का खीस रहै। जेहिसे पलायन जइसे समस्या खतम होइ सकै अउर मड़इन का आपन गांव मा काम मिल सकै पै चित्रकूट जिला के ब्लाक रामनगर के मड़इन का दस साल से काम नहीं मिला आये न नये जांबकार्ड बने आहीं।
बीडीओ शेर सिंह बहादुर का कहब हवै कि मैं या गांव का रहै वाला आहूं, मोर या नाम हवै अउर मोहिका काम चाही इनतान के दरखास  दई सकत हवै हम मड़इन का ढूढ़-ढूढ़ के काम देइत हवै रामनगर ब्लाक मा  सौ प्रतिशत नये जांब  कार्ड बन गे हवैं।
माया बताइस कि 2006 मा हमार जांब कार्ड बने रहै तबै से एक दरकी बस काम मिला हवै प्रधान दूसर जांबकार्ड नहीं बनावत आय।हेमला बताइस कि जांबकार्ड नवा बनत हवै या मोहिका अबै पता चला हवै अब नवा जांब बनवइहौं। दस साल से हमें काम नहीं मिला आय तेरसिया बताइस कि मोर 2005 जांब कार्ड बना रहै पै एकौ दरकी काम नहीं मिला आय जांबकार्ड रखे बस रहत हवै मीरा देवी बताइस कि दस साल पहिले जांब बना रहै प्रधान नवा जांबकार्ड  नहीं बनवात आय ग्राम रोजगार सेवक राजकुमार का कहब हवै कि मड़ई काम नहीं करत तौ उनकर नये जांबकार्ड नहीं बनवाये जात आहीं

बाईलाइन-सहोद्रा

Published on Nov 20, 2017