चित्रकूट जिले में एकजुट हुए कई संगठन कहा – भारतीय संविधान का अनादर बर्दाश्त नहीं