चित्रकूट जिले के सरैया गाँव से लापता लड़के की 8 दिन बाद मिली लाश

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर के गांव सरैयां के निवासी तीरथ प्रसाद केसरवानी का लड़का संजय केसरवानी के लाश 26 मई का कुआं मा मिली हवै। सरैंया चौकी के लगे से एक संजय नाम का लड़का गायब हवै, जउन तीरथ प्रसाद का बेटा आय। शाम के 4 बजे खेलै के खातिर निकरा रहै, पै जबै देर रात होय के बादौ, घरै नहीं लउटा आय, तौ घर वाले परेशान होइके ढूढ़ें का निकरे हवैं। आपन रिश्तेदार अउर जान पहिचान वालेन के हिंया पता किहिन हवैं, पै कहूं पता नहीं चला। फेर 21 मई का सरैंया चौकी मा सूचना दइके मानिकपुर थाना मा रिपोर्ट लिखवाइन हवैं। फेर वहिके बाद फिरौती का फोन आवा, जिन्दा संजय के खातिर 15 लाख रुपिया के मांग कीन गे हवै।

संजय का बाप तीरथ प्रसाद केसरवानी बताइस हवै कि सूचना के हिसाब से यहै लागत रहै, कि वहिका कउनौ अगवा किन्हें हवै। 18 मई से गायब हवै। घर से निकरत समय बड़े भाई से बताइस हवै कि भईया मैं सड़क कइती जात हौं।  ज्यादा रात होय से सबै जने परेशान होइगे हवैं, कि अबै संजय नहीं आवा। फेर ढूढब शुरू किन्हें हन। 23 मई का रिपोर्ट लिखाए हन। रिपोर्ट के बाद एक फिरौती का फोन आवा, तौ मैं उठाये हौं वा पूछिस हवै कि संजय के पापा बोलत हौ, तौ मैं बोले हौं कि हां मैं संजय का पापा बोलत हौं, तौ कहत रहै, कि संजय चाही की संजय के लाश चाही। दुई दरकी यहै बात बोलिस हवै, तौ थोई से ज्यादा डेराय गये हौं, तौ वा तिबारा से वहे बात दोहराइस हवै, तौ मैं कहे हौं की संजय चाही, तौ वा पन्द्रह लाख के मांग किहिस अउर कउनौ से बतावै का मना किहिस हवै। फेर या बात मैं जाके थाने मा बताये हौं। या बात सुनके पुलिस वाले वा नंबर का सर्विलाइंस मा लगा दीन हवैं। यहै बात वा चिटठी मा भी लिखी रहै। बहन रेनू केसरवानी बताइस हवै कि एक चिटठी बुआ का मिली हवै। जउन पाथर मा बाँधके पड़ी मिली हवै। बुआ प्रेमा का कहब हवै कि मैं नहा के पूजा के खातिर फूल तोड़े गई रही हौं, तौ हुवां या चिट्ठी मिली हवै। मैं चिटठी का खोलके पढ़े हौं, फेर लड़का का दिखाए हौं।

एस.पी. चित्रकूट के मनोज कुमार झा का कहब हवै कि 19-5-2018 का सरैंया ग्राम पंचायत का तीरथ प्रसाद केसरवानी आवा हवै, तौ वा बताइस हवै कि 18 मई से वहिका लड़का गायब हवै। थाना मानिकपुर मा गुमशुदगी के रिपोर्ट दर्ज कीन गे हवै। पुलिस तलास का काफी प्रयास किहिस हवै, पै 24 मई का संजय के फोन से फिरौती का फोन आवा हवै। जेहिमा पन्द्रह लाख के मांग कीन गे रहै, तौ अपहरण का मुकदमा पंजीकृत कीन गा हवै। मोर कइती से अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व मा सात टीमन का गठन कीन गा हवै। इं टीमन के द्वारा वुई अपराधिन का पकड़े के खातिर टीम अलग-अलग क्षेत्र मा तलास करत हवैं। तलास करत समय लगभग 15 मड़इन का हिरासत मा लइके पूछताछ कीन जात रही हवै। फिरौती के फोन का सर्विलाइंस मा लगा के अलग-अलग जघा मा हमार टीम ढूढ़त हवै। या घटना से संबंधित विजेंद्र जउन सरैंया का रहैं वाला आय। वहिका गिरफ्तार करै मा सफलता प्राप्त कीन गे हवै। जेहिसे पूछताछ के दौरान संजय का फोन बरामद भा अउर वा बताइस हवै कि संजय का 18 तारीख का व्यक्तिगत रंजिश के कारन हत्या कई दीन गे रहै। फेर वहिके बाद पुलिस का चकमा देय के खातिर फिरौती का ढोंग रचा गा रहै। संजय का मारे के बाद रात मा सरैंया गांव से लगभग 300 गज मीटर के दूरी मा एक कुआँ हवै, जेहिमा संजय के लाश फेंक दीन गे रहै। वा लाश आज बरामद भे हवै। या घटना मा दुई मड़ई के नाम बताइस हवै, जिनकर गिरफ्तारी के खातिर पुलिस अलग-अलग क्षेत्र मा उनकर तलास करत हवै।   

रिपोर्टर: नाजनी रिजवी

Published on May 28, 2018