चित्रकूट जिले के रगौली ग्राम पंचायत के लोगों को दूसरे गाँव जाने के लिए करना पड़ता है तैरकर नदी पार।

जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी में सत्तर साल से बसा गांव रगौली के गड़रियन पुरवा मा आवें-जायें खातिर कउनौ रास्ता नहीं आय। बरसात के मौसम मा बाढ़ आवे से हिंया के मड़इन का दुई किलोमीटर नदी तैरके जायें का पड़त हवैं। प्रधान ज्ञान कुमार मिश्रा का कहब हवै कि दुई साल से सबै अधिकारिन का पुल बनें खातिर कइयौ दरकी लिखित दइ चुके हौं।
पूजा देवी का कहब हवै कि नदी मा पानी भरा होय से परीक्षा के समय स्कूल न जाये से मैं फेल होइ गई हौं। रामदुलारे का कहब हवै कि हिंया गेडुवा नाला हवै। हिंया से तीन गांव के मड़ई निकलत हवैं। गड़रियन पुरवा मा स्कूल बना हवै। दूसर गांव से बच्चा पढ़े आवत है तौ नाला मा पानी भरा होय के कारन लउट जात हवैं। नौमत पाल का कहब हवै कि हमें चार-चार दरकी नाला पार करै का पड़त हवै काहे से हमार जानवर वा पार बांधे रहत हवै तौ दूध दुहे खातिर वा पार जायें का पड़त हवै। नाला से दूध लइके निकले मा कइयौ दरकी दूध खराब होइगा हवै। आशा कार्यकर्ता अर्चना गुप्ता का कहब हवै कि हिंया एम्बुलेंस नहीं आवत तौ गर्भवती मेहरियन का लइके जायें मा बहुतै परेशानी होत हवैं। मास्टर मनोज का कहब हवै कि डियूटी करै का हवै तौ आवे का पड़त हवै। जबै नदी मा गले तक पानी रहत हवै तौ गांव के मड़ई हमें निकालत हवै।
विधायक चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय का कहब हवै कि सड़क अउर नाला मा पुलिया बनवावा जई। मार्च तक यहिकर बने का आदेश होइ जई।  

रिपोर्टर- नाजनी रिजवी

Published on Jan 16, 2018