चित्रकूट जिले के जरिहा सरकारी स्कूल के ऊपर ग्यारह हज़ार वोल्टेज तार तो नीचे सूखा हैंडपंप

जिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी, गाँव जरिहा। हिंया के सरकारी स्कूल मा ग्यारह हजार वोल्टेज के बिजली के तार लटकत हवैं। 1981 मा जबै स्कूल मा बना रहै तबै से हिंया तार लटकत आय। यहिके खातिर विभाग का कइयो दरकी दरखास दीन गे हवै पै आश्वासन बस मिला हवै। यहिके अलावा या स्कूल मा पानी के भी समस्या हवै काहे से एकौ हैण्डपम्प नहीं लाग आहीं मजबूरी मा बच्चन का बोतल का गरम पानी पियें का पड़त हवैं।
खण्ड शिक्षा अधिकारी ओम प्रकाश मिश्रा का कहब हवै कि ग्यारह हजार बिजली के तार के जांच कराके विभाग का कारवाही करे का कहा जई। पानी के समस्या खातिर खण्ड विकास अधिकारी का सूचना दीन जई। हेडमास्टर अखिलेश  प्रसाद का कहब हवै कि, मई मा रिबोर कीन गा रहै पै हैण्डपम्प नहीं लाग आहीं। 2015 मा ग्यारह हजार के तार दुइ दरकी टूट हवै। यहिके खातिर अधिशाषी अभियंता, डी.एम. अउर बी.एस.ए. का कइयो दरकी दरखास दीन गे हवै पै आज तक समस्या जस के तस बनी हवै।
स्कूल मा पढे़ वाला लडका नितिन कुमार बताइस की बोतल का पानी गर्म होई जात हवै तो स्कूल के बाहर पानी पिये जाये का पडत हवै। खाना बनावे वाली कोयली का कहब हवै कि स्कूल का हैण्डपम्प खराब होए से नदी अउर कुंआ से पानी लावें का पड़त हवै। प्रधान अवध बिहारी का कहब हवै कि ग्यारह हजार के तार लटके से बहुतै खतरा हवै कइयौ दरकी जेई और डी.एम. का दरखास दीन गे हवैं।

बाईलाइन-नाजनी रिजवी 

10/10/2017 को प्रकाशित