चित्रकूट जिले के छेदियाखुर्द गाँव में बबली कोल के गुंडों ने दहशत मचाई

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव छेरिहा खुर्द, 5 जनवरी 2017। पांच लाख का इनामी डकैत बबली कोल के साथियों ने छेरिहा खुर्द गांव में 25 दिसम्बर को सात ग्रामीणों की बुरी तरह पिटाई की। गांव से दस किलोमीटर की दूरी में घास काटने गए ये ग्रामीणों बैलगाड़ी से घर की तरफ आ रहे थे। तभी ही घात लगाकर छिपे बबली डकैत के साथियों ने ग्रामीणों के साथ  मार-पीट की। पर ग्रामीणों को हिंसा की वजह नहीं पता है, जबकि अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार का कहना हैं कि गांव में शरण नहीं मिलने के कारण उन्होंने गांव के लोगों की पिटाई की थी।

ढाई सौ यादव जाति के इस गांव के लोगों का मुख्य रोजगार पुशपालन है और गांव के लोग गांव से बाहर जंगल में घास काटने के लिए जाते हैं। 25 दिसम्बर को भी अन्य दिनों की तरह गांव के सात लोग घास काटकर घर लौट रहे थे कि बबली के साथियों ने ग्रामीणों की बैलगाड़ी रोक-रोककर उनकी पिटाई करने  लगे । पीड़ित सात ग्रामीण की स्थिति बहुत खराब हैं, वे ठीक से उठ-बैठ नहीं पा रहे हैं। इस घटना के बाद से गांव में एक डर सा माहौल बना हुआ है। लोग जंगल में जाने में डर रहे हैं।

पीड़ित छेदी लाल अपने शरीर के घाव दिखाते हुए कहते हैं, “एक आदमी को चार-चार डकैत मार रहे थे।” हालांकि ग्रामीण पुलिस की दिन रात गश्त लगने की बात कहते हैं। पर अभी भी ग्रामीणों को डर हैं कि जब पुलिस की गश्त हटेगी तो वे दुबारा से फिर ऐसी घटना नहीं करे।

वहीं अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार का कहना हैं, “इस घटना के बाद से गांव में पुलिस की गश्त बढ़ा दी है। पर अभी तक बबली और उसके साथी हाथ नहीं आयें हैं।”

रिपोर्टर- नाजनी 

Published on Jan 3, 2017