चित्रकूट जिले के कोटरा खाम्भा में नुकीले पत्थरों की सड़क पर चलना हुआ मुश्किल

जिला चित्रकूट जिला, ब्लाक मऊ, गांव कोटरा खाम्भा मा नुकीला पत्थरन के सड़क मा मड़इन का चलब मुश्किल होइगा हवै। लगभग पचास साल से सड़क न बनै से गांव तक साधन नहीं आ पावत अउर कउनौ तरह आवत भी हवै, तो बीच रास्ता मा गाड़ी के पहिया पंचर होई जात हवै। जेहिसे मरीज अस्पताल पहुंचे से पहिले दम तोड़ देत हवैं। मड़इन का आरोप हवै कि वोट ले खातिर नेता, विधायक लुभावाने वादा करत थकत नहीं आय। पै जबै विकास के बात आवत हवै तौ सिर्फ भरोसा मिलत हवैं। प्रशासन वोट के बदले मा करारी चोट दिहिस हवै, पै अब सड़क नहीं तौ वोट नहीं।
राजकुमारी अउर सरोज का कहब हवै कि सड़क न बनै के कारन वाहन मा आवै जाय मा परेशानी होत हवै। बरसात मा बच्चा गिर जात हवैं, तौ कपड़ा गीले होइ  जात हवै यहै कारन बच्चा पढ़े नहीं जाय पावत आय। विधायकी के चुनाव मा विधायक कहिस की सड़क, लाइट जइसे समस्या का समाधान होइ जइ पै अबै तक कुछौ नहीं भा।
जवाहरलाल पाल बताइस कि बीस पच्चीस साल से सड़क यहिनतान के हवै। कउनौ बीमार होई जाय तौ कंधा मा, नहीं तौ ट्रैक्टर मा लईके जाय का पड़त हवै। मऊ पहुंचत-पहुंचत कुछ तौ दम तोड़ देत हवै। हिंया के घटना मा मोर भाभी खत्म होइगे हवै।
कमलेश कुमार प्रधान का कहब हवै कि बच्चा साइकिल मा स्कूल जात हवै तौ साइकिल पंचर होई जात हवै। साइकिल गड्ढा मा गिरे से टूट जात हवैं। मोर दुई पहिया गाड़ी आवै जाए मा ख़राब होइगे हवै। तौ वहिका बेच दीनेहौं। जहां गड्ढा रहे हवै तौ मैं हुंवा मनरेगा के तहत माटी डवा दीने हौं। पी.डब्ल्यू.ड़ी विभाग से या अउर कउनौतान से बन जाये तौ अच्छा होई जइ।
जिला पंचायत सदस्य कृपाशंकर निषाद बताइस कि मोर कार्य योजना मा कमलेश प्रधान का अप्लिकेशन डाले हौं, तौ जइसे बजट आ जइ तौ वहिमा टेंडर लगा के काम शुरू कीन जइ।      

रिपोर्टर- सुनीता देवी

Published on Apr 16, 2018