चित्रकूट जिले के कलेहा गाँव में डाकुओं का कहर – परिवार वाले घर छोड़कर भागे

जिला चित्रकूट, गांव कैलाहा, 12 जनवरी 2017। चित्रकूट में आज भी डाकूओं की अपनी अगल सरकार चलती है और उनके आतंक से यहां के निवासी परेशान हैं। डाकूओं का ही कहर हैं कि 25 दिसम्बर 2016 को मानिकपुर ब्लाक के छेरिया खुर्द गांव में 7 लोगों को बबली कोल के साथियों ने बुरी तरह से पीटा है। अब 5 जनवरी को कैलाहा गांव में कोल आदिवासी बच्चा कोल के परिवार को पूरी तरह से पीटा है। साथ ही उससे जान से मारने की धमकी भी दी थी, जिसके कारण दहशत में आया परिवार गांव छोड़कर चला गया है। वहीं थाना बहिलापुरवा के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार का कहना हैं, “हमनें गांव में बबली कोल और उसके साथियों को पकड़ने के लिए कोम्बिंग कर रहे हैं, और साथ ही गांव की सुरक्षा बढ़ा दी है।”

गांव की बुधिया कहती हैं, “हमें ज्यादा नहीं पता पर वे लोग अपनी जान बचाने के लिए रातों-रात गांव छोड़कर भाग गए।”

गांव में बहुत कम ही लोग इस घटना पर बोल रहे हैं। लोग न बताने की शर्त में कहते हैं, “हम उसके खिलाफ कुछ नहीं बोल सकते हैं, क्योंकि ये डाकू शिकायत करने वाले लोगों को 100 लाठी से कम नहीं मारता हैं।”

हालांकि गांव में पुलिस की चौकसी बढ़ा दी हैं। पर लोगों को अभी भी दहशत हैं कि चौकसी हटने के बाद डाकूओं का कहर फिर से शुरु हो जाएगा।

रिपोर्टर- नाजनी और सहोद्रा 

11/01/2017 को प्रकाशित