चित्रकूट के राजापुर आएं तो रमेश कुमार का पान ज़रूर खाएं!

जिला चित्रकूट, क़स्बा राजापुर खई के पान बनारस वाला खुल जाय बंद अकल का ताला। या गाना सुन के मड़इन का भी पान खाय खातिर जी ललचाएं लागत हवैं। राजापुर कस्बा मा रमेशकुमार का पान देख के भी मड़इन का मन पान खाय खातिर होय लागत हवैं।
पान कि दुकान चलावें। वाला रमेशकुमार बताइस कि पहिले मोर बाप अउर बड़ा भाई पान के दुकान चलावत रहै। पचासन साल से हमार या दुकान हवैं। सतना मा हमार पान के कैंटीन रहै।
हमार दुकान मा कलकट्टा, नागपुरी अउर बनारसी पान बिकत हवैं। एक पान पांच से दस रूपया के बीच बिकत हवैं। गुटका के कारन अब मड़ई ज्यादा पान नहीं खात हवैं। जउन मड़इन का पान का बहुतै सउख हवैं। उंई रोज पान खात हवैं।
दस बारह मड़ई रोज पान खाय खातिर आवत हवैं। पान खाय वाला अवधेशकुमार बताइस कि हिंया का पान खाय मा अच्छा लागत हवैं। यहै कारन वा रोज पान खाय खातिर आवत हवैं।

रिपोर्टर- सहोद्रा 

 

04/10/2016 को प्रकाशित