चित्रकूट के मुरका गाँव के लोग हुए हैं बेघर, अधिकारियों को नहीं है ठोस जानकारी

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव मुरका हिंया के मड़इन का घर गिर गा हवैं, जेहिसे उंई पन्नी लगा के रहै का मजबूर हवैं। इं मड़इन का अबै तक कउनौ सरकारी सुविधा नहीं मिली आय। घर के लगे कउनौ नाली नहीं बनी आय जेहिसे रास्ता मा पानी भरा रहत हवै। यहै कारन घर गिरे हवैं। अधिकारिन का या बात के कउनौ जानकारी नहीं आय।
संगीता का कहब हवै कि हमार घर गिर गा हवै जेहिमा हमार सब समान दब गा हवै। हमरे लगे कुछौ समान नहीं आय। खाय बनावै का बर्तन आहीं न पहिने का कपड़ा आहीं इनतान के ठंडी मा बिना कपड़न के बड़े मुश्किल से गुजारा होत हैं।
पन्नी तान के कउनौ गुजर करित हन। बीस साल से हमें कउनौ सरकारी लाभ नहीं मिला आय। रहै खातिर कलोनी भी नहीं मिली आही जेहिसे हम टूट-फूट घर मा रहे का मजबूर हन।
सुमन बताइस कि हमार घर मा कउनौ रिश्तेदार आ जात हवैं तौ उनका परावै बइठावै के जघा नहीं आय। सबसे ज्यादा परेशानी बरसात के महीना मा होत हवै, पूर रात जाग के पार करै का पड़त हवैं। अबै तक हमें कउनौ सरकारी सुविधा नहीं मिली आहीं न राशन कार्ड बना आय, न कलोनी मिली आहीं, सूखा राहत का रुपिया मिला आय। हमें पेंशन भी नहीं मिलत हवैं।
ग्राम पंचायत अधिकारी रामकुमार का कहब हवैं कि अबै तौ हमें घर गिरे के जानकारी नहीं आय। इं मड़इन के नाम प्रधानमंत्री आवास होइ हैं तौ जरुर दीन जइ हैं । नाली के समस्या भी जल्दी दूर कीन जई।

रिपोर्टर- सुनीता

Published on Feb 2, 2017