चित्रकूट के मऊ ब्लॉक के चौकीदार ने की वेतन, आवास और ज़मीन की मांग

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, क़स्बा बरगढ़ के चौकीदारन के मांग हवै कि पन्द्रह सौ रुपिया वेतन मिलत हवै। येत्ते रुपिया मा हमार घर का खर्चा नहीं चलत आय। सरकार मंहगाई तौ रोज़ै बढ़ावत हवै.पै हमार वेतन काहे नहीं बढ़ावत आय। यहिसे 15 जून का डी.एम. मोनिका रानी का ज्ञापन दीन गा रहै। वेतन समेत हमार ग्यारह मांग हवै।
सेमरा गांव के चौकीदार माताबदल का कहब हवै कि मैं पन्द्रह साल से चौकीदार हौं। चौकीदरी करै के कारन अउर कउनौ दूसर काम भी नहीं कइ पावत हौं। उत्तर प्रदेश सरकार चौकीदार का पन्द्रह सौ रुपिया देत हवै। जबैकि बिहार सरकार पद्रह हजार रुपिया देत हवै। यहिसे हमार भी वेतन बढ़ै का चाही। रमेश चन्द्र का कहब हवै कि पन्द्रह सौ रुपिया मा घर का खाना खर्चा नीकतान से नहीं चलत आय। बच्चन के पढ़ाई लिखाई अउर दुःख बीमारी मा रुपिया लागत हवै। यहिसे पन्द्रह सौ रुपिया नहीं पूजत आय। चौकीदारन का वेतन बढ़ैै,आवास अउर पट्टा के जमींन मिलैै का चाही। डोिड़या माफ़ी गांव के इन्द्रलाल का कहब हवै कि गांव मा रोजै कउनौ ना कउनौ काम अउर समस्या बनी रहत हवै। उनके समस्या का खतम करै खातिर खूबै भाग दउड़ करै का परत हवै। कत्तौं कत्तौं खाना खाये का समय नहीं मिलत आय। कहेटा माफ़ी गांव के चौकीदार रामायण कहिस कि पन्द्रह सौ रुपिया वेतन बहुतै कम हवै।
रिपोर्टर- सुनीता देवी 
01/08/2016 को प्रकाशित

दिन रात काम करने के बाद मिलते हैं 1500 रुपये
चित्रकूट के मऊ ब्लॉक के चौकीदार ने की वेतन, आवास और ज़मीन की मांग