चित्रकूट के भैसौंधा गाँव में फैली बीमारियां

जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, गांव भैसौंधा कर्वी के भैसौंधा गांव मड़ई कालरा के बीमारी से परेशान हवै,पै अबै तक उनके गांव मा अबै तक कउनौ झांकै तक नहीं आवा हवै।
गांव के कल्ली नाम के औरत का कहब हवै कि मोर लड़के का कालरा होइगा हवै। पहले शिवरामपुर प्राथमिक स्वास्थ केंद्र मा अपने लड़के का इलाज करायेंव,पै वहिका कउनौ फायदा नहीं भा हवै। यहिसे लड़के का कर्वी के सोनेपुर जिला अस्पताल मा 25 जुलाई का भर्ती करेंव तबै जा के लड़के का थोइ आराम लाग हवै। गांव के किसान मड़ई गरीबी से परेशान तौ दूसर अब बीमारी से जूझत हवै। मोर गिरी हालत मा लगभग दुइ हजार रुपिया खर्चा होइगा हवै।
पप्पू खां का कहब हवै कि एक साल से हैण्डपंप मा गन्दा पानी आवत हवै। मजबूरी मा मड़ई वहै गंदा पानी पियत हवै। गन्दा पानी पियै के कारन मड़ई अउर ज्यादा बीमार होत हवै।
या समय गंदगी के कारन गांव मा लोग बीमारी से जूझ रहे हवै काहे
अबै  तक मा गांव मा डाक्टर के कउनौ टीम नहीं पहुची आय।
चुन्नी कहिस कि चार दिन से बच्चन का जिला अस्पताल मा लइके भर्ती हौ। असपताल मा उनका देखावै खातिर आय हौ, पै मोर एक लड़की रोशनी मर गे हवै। गांव के मड़इन का कालरा के बीमारी से हाल बेहाल हवै।
सोनेपुर जिला असपताल के डाकटर ॠषि कुमार क कहब हवै कि या समय मड़ई साफ़ सुथरा अउर उबाल के पानी पियै। ताजा खाना खावै का चाही जउन लोग बीमार हवै। उनका इलाज कीन जात हवै। अब पता होइगा हवै तौ गांव जा के जाच कीन जई।
29/07/2016 को प्रकाशित

चित्रकूट के भैसौंधा गाँव में फैली बीमारियां
साफ़ -सफाई और इलाज की सुविधा की सख्त ज़रूरत