अपराध के मामले में उत्तर-प्रदेश देश में सबसे आगे, चित्रकूट और महोबा से दो घटनाएं आई सामने

अपनी कानून व्यवस्था को लेकर अक्सर सुर्ख़ियों में रहने वाला उत्तर प्रदेश गम्भीर अपराधों में सबसे आगे है। राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरों की और से जारी आकड़ों के अनुसार 2016 में बलात्कार के अड़तिस हजार नौ सौ सैंतालिस मामलें दर्ज हुए हैं। जिला चित्रकूट और महोबा में बलात्कार और छेड़खानी की अलग घटनायें सामने आई हैं।
महोबा की पीड़ित महिला का कहना है कि दबंगों ने मेरे साथ बलात्कार किया था अब धमकी देते हैं। पीड़ित महिला के पति का कहना है कि मेरी पत्नी कुछ खाती पीती नहीं थी, रोती रहती थी। वो कहती थी मुझको डाई ले आओ तो मैं पी के जान दे दूंगी क्यों कि मेरे साथ दबंगों ने गलत काम किया हैं।पत्नी के दरवाजा न खोलने पर घर में आग लगा दी पुलिस ने तब भी कोई कार्यवाही नहीं की है।
एस.पी.एन कोलांची का कहना है कि छह महीना पहले पांच छह लोगों ने महिला के साथ बलात्कार किया था। इस घटना की जांच करके जल्दी ही अपराधी को जेल भेजेंगे।
चित्रकूट की पीड़ित महिला का कहना है कि 22 नवम्बर की रात दो बजे गांव का ननकवा मेरे साथ छेड़खानी करने की कोशिश की है मैं उसको पहचान गई तो वह मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा था घर में उस समय कोई नहीं था।पति परदेश में और सास ससुर खेत में थे।
मऊ सीओ विनीत सिंह का कहना है कि जांच में बात सामने आई है कि छेड़खानी नहीं हुई है। ननकवा जुयें में पैसा हार गया था तो  महिला के घर चोरी करने गया था।महिला सही रिपोर्ट लिखायेगी तो लिखी जायेगी।
रिपोर्टर-सुनीता प्रजापति और सुनीता देवी

Uploaded on Dec 7, 2017