चार दिन से इलाज खातिर लउटत लक्ष्मी

डाक्टर के लापरवाही से लउटत मरीज
डाक्टर के लापरवाही से लउटत मरीज

बांदा शहर मोहल्ला कटरा चैराहा। चार दिन से जिला अस्पताल से इलाज करावैं का लउटत लक्ष्मी। 9 अक्टूबर 2013 का मनसवा शैलेन्द्र साथै अस्पताल मा हंगामा मचा दिहिस है। काहे से डाक्टर वहिकर इलाज नहीं करत रहा आय।
लक्ष्मी बतावत है-“मोरे बच्चा होय का है। चार दिन से बराबर पेट मा पीरा है अउर पानी चलत है। यहै मारे चार दिन से अस्पताल आवत हौं। डाक्टर न कउनौ जांच करैं, न अल्ट्रासाउन्ड अउर न जबाब देत आय। रोजै आज सकार का बहाना कइके अउर बहला फुसला के लउटा देत हैं।”
मनसवा शैलेन्द्र कहत है-”मरीज के पीछे चार दिन होइगे। मैं भी रोजै आपन काम धन्धा बन्द करे अस्पताल मा बइठ रहत हौं। इलाज मा होय वाले खतरा के जिम्मेदारी के लिखित डाक्टर मोहिसे चार दरकी लई चुके हैं। यहिके बाद भी न इलाज करत अउर न जबाव देत आय।”
जिला अस्पताल के डाक्टर चारू गौतम का कहब है कि डिलेवरी का कउनौ पता निहाय केतनी समय होई। अस्पताल के अल्ट्रासाउन्ड मशीन खराब है। यहिसे हम उनका जवाब लगा दीन है।