चरही न बनै से परेशान

DSCN0037
कबै बनी चरही

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव खोहर मजरा मोहन पुरवा। हिंया दुइ बरस से हैण्डपम्प के चरही टूट गे हवै। या से पचास मड़ई परेशान हवैं।
हिंया के शिवप्रसाद, रामकेश, कृष्ण कुमार अउर रामनरेश समेत दस मड़इन का कहब हवै कि वा हैण्डपम्प के चरही दुइ बरस से टूट परी हवै। अबै तक चरही नहीं बनी आय। हैण्डपम्प के अगल बगल मा कादौं भरा रहत हवै। पानी भरै मा बहुतै परेशानी होत हवै। मजबूरी मा पानी भरै का परत हवै। या गन्दगी से बीमारी फइलै का डेर बना रहत हवै। हैण्डपम्प मा चरही बनावै खातिर कइयौ दरकी प्रधान रामनरेश से कहा गा, पै वा नहीं सुनत आय।
प्रधान रामनरेश का कहब हवै कि अबै तक बरसात होत रही हवै। अब चरही बनवा दीन जई। काहे से चरही बनाउब जरूरी हवै।