घूम के जाये का परी

DSCN0009
गिरा दिहिन बाउन्ड्री

जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, छत्रपति शाहू जी महिला महाविद्यालय। हिंया 14 जुलाई 2013 का बाउन्ड्री बनत रहै। खटकाना मुहल्ला के मड़ई बाउन्ड्री गिरा दिहिन। काहे से कि लगभग पांच सौ मड़इन का निकरै खातिर अउर कत्तौ से रास्ता नहीं आय। या कारन 15 जुलाई 2013 का डी.एम. बलकार सिंह का लिखित दरखास दीनगे।
मुहल्ला के आरती, सुमित्रा, कैलाश अउर कुसमा के साथै समस्या बतावै मा दस लोग शामिल । उनकर कहब हवै कि लगभग पन्द्रह बरस से वहै रास्ता से निकरित हन। यहिके अलावा कत्तौ से रास्ता नहीं आय। अगर बाउन्ड्री बन जई तौ निकरै के समस्या होइ। शंकर बाजार कोआपरेटिव बैंक के लगे से घूम के जाये का परी। विद्यायल के मास्टर पहिले कहत रहै कि हिंया से रास्ता रही, पै अब बन्द करत हवै। यहै से सबै मड़ई 16 जुलाई 2013 का डी.एम. का लिखित दरखास दें गयेन रहैं।
छत्रपति शाहू जी महिला महाविद्यालय के बाबू रावेन्द्र सिंह का कहब हवै कि जिला मा बस एकै महिला विद्यालय हवै। विद्यालय बनावैं खातिर पूर्व सांसद रामसजीवन सिंह लगभग साढ़े आठ बीघा जमीन दिहिन रहंै। सन् 2004 से विद्यालय हवै। बिटियन का कउनौतान के परेशानी न होय। या कारन बाउन्ड्री बनाई जात रहै। काहे से कि दारू पियै वाले अउर लोफर लड़का निकरत हवै । बिटियन का खेलै खातिर आराम होइ जई। मड़इन का निकरै खातिर रास्ता हवै। एक टावर के लगे दूसर कोआपरेटिव बैंक के सउहें।
कर्वी एस.डी.एम अभयराज का कहब हवै-“ लेखपाल का लइके जांच करै जइबे जउन सही होइ कीन जई।”