घर से निकारिन

रंजना
रंजना

जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव बम्बुरी। हिंया के रंजना के शादी 2008 मा मनसवा उदय सिंह के साथै गांव भौरी मजरा कलवारा का पुरवा मा भे रहै, पै दहेज अउर बच्चा न होय के कारन 19 नवम्बर 2013 का घर से निकार दिहिन हवै। या से रैपुरा थाना मा 16 नवम्बर 2013 का दरखास लिखाइगे हवै।
हिंया के रंजना का कहब हवै कि मोर मनसवा उदय सिंह दुइ बरस नींकतान से राखिस हवै, पै फेर मार पीट करै लाग हवै। बच्चा न होय का बहाना अउर दहेज मा एक चार पहिया गाड़ी, दस तोला सोना अउर नगद दस लाख रूपिया मांगत रहै अउर या भी कहत रहै कि तै हमार घर लायक नहीं आय। तोर घर का काम नहीं कीन होत आय। तै अपने मइके मा जा के रहौ। मोर मनसवा मोहिका राखै खातिर नहीं तैयार हवै।
ससुर सूरजबली अउर सास शान्ती का कहब हवै कि इं दूनौ आपस मा लड़ाई करत रहै। हमै कुछौ पता नहीं आय, पै हमार लड़का उदय सिंह कहत हवै कि मैं न रखिहौंै। वहिके बच्चा नहीं होत आय। अगर या रही तौ मैं घर मा न रइहौं अउर रंजना हमार बहू नींक से खाना भी नहीं बना के देत आय। रैपुरा थाना के छोट दरोगा अजय सिंह का कहब हवै कि रंजना 16 नवम्बर 2013 का दहेज के दरखास लिखाइस हवै। जांच के बाद कारवाही कीन जई।