घर भी सजे, और किफ़ायत भी हो, चित्रकूट की वंदना बनाती हैं सजावट का ऐसा सामान

जिला चित्रकूट, कस्बा कर्वी। हम चाहित हन आपन घर का नींक तान सजा के राखी। यहिके खातिर कुछ मडई बजार के सामान खरीद के आपन घर सजावत हवैं तो कुछ मडई आपन हाथ से सामान बना के घर सजावत हवैं। यहिनतान का सामान बनावत हवै। कर्वी बस स्टाप मा रहै वाली वन्दना।
बी0ए0 की पढाई पूर कई चुकी वन्दना का कहब हवै कि, पच्हत्तर रूपिया के माइक्रोम के एक लच्छी मिलत हवै। सजावट का एक सामान बनावै मा दुइ लच्छी लागत हवै। एक महीना पहिले मैं एक लड़की के सजावट का सामान बनावै सीखे हौं। काहे से मोहिका सजावट का सामान बनावै मा बहुतै नींक लागत हवै। मैं माइक्रोम से गुलदस्ता, शीशा कवर, गणेश जी, चूड़ी केश, बैग, झूमर जइसे बहुतै सारा सजावट का समान बनावत हौं।
बाई लाइन- नाजनी रिजवी
19/09/2017 को प्रकाशित