घर-घर लागे बिजली

power- finalजिला फैजाबाद, ब्लाक तारुन, गांव विजैनपुर सजहरा। हिंआ राजीव गांधी योजना के तहत फरवरी 2013 मा बिजली लागे। विद्युत विभाग से दस दिसम्बर का दुई जने आय रहे अउर नाप के लै गये कि कहां बिजली लागे

गांव कै रामचन्दर बताइन कि दुई जने विद्युत विभाग से आय रहे। अउर नाप के लै गये कहिन कि फरवरी महीना मा बिजली लागे। अगर बिजली लाग जाये तौ सबके खुषी कै लहर दौड़ जाये। जवन बिजली के जाई तरसा जात तब तरसै का न रहे। अउर सब चीज कै आराम होय जाये।

मस्तराम कै कहब बाय कि एक बार लगभग दस साल पहिले विजली कै विद्युती करण भै रहा लकिन बिजली नाय लाग। कइयौ गांव मा लाग रहा लकिन यहि गांव मा नाय लाग रहा। अब लाग जाये तौ जान लिया की जिन्दगी मा बिजली कै सुख मिल गै। अउर तौ अउर जवन दूसरे के घरे मोबाइल चार्ज लगावै से हेराय जाथै सब चीज से आराम होय जाये।
गेदहरै नीमा, ज्योती, षिवम बताइन कि अगर बिजली लाग जाये तौ पढै मा ठीक आये। दिया जलाय के पढि़ नाय मिलत। थोड़ी देर मा नीद आवै लागा थै। तब देर तक पढ़ाई करब। लैपटाप चार्ज होय जाये तौ नई-नई जानकारी सिखै का मिले।