गुड़ की जलेबी

jalebi

गुड़ की जलेबी सुन कर मुंह में पानी आ जाता हैं। यह जलेबी बुन्देलखण्ड में मषहूर भी हैं। यह जाड़े के मौसम में ज्यादातर जगहों में मिलती है। लोगों का मानना है कि जाड़े में गुड़ खाने से ज्यादातर रोग नहीं होते हैं। साथ ही षरीर में गर्मी बनी रहती है। इस समय जहां मेला लगता है वहां गुड़ की ही जलेबी देखाई देती हंै।
चित्रकूट जिला में पहाड़ी कस्बा में पालेषवर नाथ जगह में मेला लगा है। यहां पर मउ के मनोज तिवारी और कुचारम गांव का तिजोला का कहना है कि हम जाड़े में गुड़ की जलेबी बनाते हैं। इससे हमारे परिवार का खर्चा चलता हैं। मेले की भीड़ मे हमारा हाथ जलेबी बनाने से नहीं थकता हैं। इससे हमारी कमाई अच्छी हो जाती हैं। मेले में आने वाले लोग जलेबी जरुर खाते हैं।