गुजरात में गरबा देखने पर एक दलित युवक की पीट-पीट कर हत्या

फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमन्स

गुजरात के आणंद जिले में नवरात्रे में गरबा देखने आए 21 वर्षीय दलित युवक की कथित रूप से पीटपीटकर हत्या कर दी गई।
आरोप है कि पटेल समुदाय के कुछ लोगों ने गरबा देखने आये दलित युवक को गरबा देखने को कहा और फिर उसके विरोध करने पर उसको पीटपीट कर मार डाला।
मृतक का नाम जयेश सोलंकी बताया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने बताया कि जयेश सोलंकी, उसका रिश्तेदार प्रकाश सोलंकी और दो अन्य लोग भद्रानिया गांव में एक मंदिर के बगल में स्थित घर के पास बैठे थे। उस वक्त वहां गरबे का आयोजन हो रहा था। तभी एक शख्स ने उनकी जाति के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की। आरोपी ने कहा कि दलितों को गरबा देखने का अधिकार नहीं है। उसने जातिवादी टिप्पणी की और अपने कुछ साथियों को मौके पर बुला लिया। इसके बाद जयेश सहित अन्य दलितों की भी पिटाई कर दी गई। इस दौरान आरोपियों ने जयेश का सिर एक दीवार पर दे मारा। जयेश बुरी तरह घायल हो गया।
जयेश को तत्काल करमसद अस्पताल ले जाया गया। उसे रात भर गंभीर हालत में अस्पताल में रखा गया। सुबह डॉक्टरों ने बताया कि उसकी मौत हो चुकी है।
बता दें कि यह पहली बार नहीं है, पिछले दिनों गुजरात में दलितों के खिलाफ अत्याचार के कई मामले सामने आए हैं। हाल ही में स्टाइलिश मूंछ रखने पर दलित युवक के साथ मारपीट का मामला सामने आया था। ऊना कस्बे में गोहत्या को लेकर चार दलित युवकों को बेरहमी से पीटे जाने की घटना के खिलाफ बड़ा आंदोलन भी हुआ था, लेकिन दलित उत्पीड़न के मामले नहीं थम रहे।