गुजरात चुनाव से पहले, बहुचर्चित फ़िल्म ‘पद्मावती’ के विरोध में उतरी भाजपा

फोटो साभार: विकिपीडिया

फ़िल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली की आनेवाली फिल्मपद्मवातीको लेकर गुजरात में लगातार विवाद बना हुआ है। फ़िल्म को लेकर अब भारतीय जनता पार्टी ने सवाल खड़े कर दिए हैं।
भारत निर्वाचन आयोग और गुजरात मुख्य निर्वाचन आयुक्त को पत्र लिखते हुए पार्टी ने राजपूत प्रतिनिधियों को रिलीज से पहले से फिल्म दिखाने की व्यवस्था करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इससे उनका क्रोध शांत होगा और चुनावों से पहले तनावपूर्ण स्थिति से भी बचा जा सकेगा।
बीजेपी प्रवक्ता और राजपूत नेता आई के जडेजा ने कहा कि बीजेपी चाहती है कि या तो पद्मावती चुनाव के बाद गुजरात में रिलीज की जाए या उसे बैन ही कर दिया जाए।
जडेजा ने कहा, ‘क्षत्रिय, राजपूत प्रतिनिधियों ने हमसे मिलकर फिल्म में किसी तरह से इतिहास और रानी पद्मावती के चरित्र के साथ छेड़छाड़ किए जाने का विरोध किया है। इतिहास के हिसाब से रानी पद्मावती कभी अलाउद्दीन खिलजी से नहीं मिली थीं।
उन्होंने कहा कि गुजरात में चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में फिल्म में तथ्यों के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की होनी चाहिए जिससे राजपूतक्षत्रिय समुदाय की भावनाएं आहत हों।
बता दें कि फिल्म दिसंबर की शुरुआत में रिलीज होने वाली है जबकि चुनाव 9 से 14 दिसंबर के बीच कराए जाएंगे।