गुजरात चुनाव: प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान का हाथ होने का शगूफ़ा छोड़ा, विपक्ष भड़का

साभार: विकिपीडिया

10 दिसंबर को बनासकांठा के पालनपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता राज्य के चुनाव में पाकिस्तान से मदद ले रहे हैं।
रैली में कांग्रेस पर हमला करते हुए मोदी ने कहा, “पाकिस्तानी सेना के पूर्व डायरेक्टर जनरल सरदार अरशद रफीकी कांग्रेस नेता अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं।
उन्होंने कहा, ”एक तरफ पाकिस्तानी सेना के पूर्व डीजी गुजरात के चुनाव में दखल दे रहे हैं, वहीं पाकिस्तान के लोग मणिशंकर अय्यर के घर बैठक भी कर रहे हैं।
सूत्रों के अनुसार, मणिशंकर अय्यर के घर एक गुप्त बैठक हुई जिसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त समेत, वहां के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व उप राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल हुए थे।
पीएम मोदी द्वारा लगाए गए आरोपों पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि इस तरह के अनर्गल आरोप लगाने से पहले बीजेपी नेतृत्व को अपने पाकिस्तान प्रेम का जवाब देना चाहिए।
सुरजेवाला ने मोदी के बयान को वोट बटोरने के लिए ‘शब्दों का हमला’ करार देते हुए कहा कि बीजेपी के अनेक नेताओं का, प्रत्यक्ष परोक्ष रूप से ‘पाकिस्तान प्रेम’ जगजाहिर है।
कांग्रेस ने पीएम मोदी को चुनौती दी है कि वो इस बात को साबित करें या माफी मांगें।