गांव मा चर्चा जायदाद का भे हत्या

ganva se  hatya khabarजिला बांदा, ब्लाक बबेरू, गांव अनौसा। हेंया के लगभग चालिस साल के विधवा औरत आशा देवी के मउत 28 दिसंबर का होइगे। ससुराल के लोग बताइन कि आशा देवी जहर खा लिहिस है। जबैकि मइके के लोग जायदाद के लालच मा मार डालैं का आरोप लगाइन हैं। पुलिस लाश का पोस्टमार्टम कराइस है।
ब्लाक महुआ का गांव जखनी आशा देवी का मइका आय। आशा देवी का भाई शिवमंगल राजपूत का कहब है कि बहिनी आशा देवी के एक लड़की बस गोद मा रहै तबै मोर जीजा जेवना राजपूत के मउत होइगे रहै। या घटना लगभग बीस साल पुरान आय। लड़की के शादी करैं के बाद बहिना अकेले रहत रहै। सबके नजर वहिके जमीन जायदाद मा रहै। आशा देवी का जेठ ऊदल तौ वहिके जिंदा मा कइयौ दरकी घर गृहस्थी हड़पैं के कोशिश कई चुका है।
कहत रहै कि तोरे कोऊ निहाय तौ हमका दई दे। यहै मारे ऊदल का लड़का रमेश बहिनी के साथै रहत भी रहै। रमेश कइयौ दरकी मारपीट चुका है। या बात हमसे आशा देवी बताइस भी रहै। सोचत रहैं कि जिंदा मा कुछ न होई तौ हत्या कइके आत्महत्या का बहाना करत हैं। तेरही संस्कार के बाद इनका जेल के हवा खाय का परी।
जेठ ऊदल राजपूत कहिस कि रोज के जइसे 27 दिसंबर का सब जन बना खा के सो गे रहैं। 28 के सुबेरे नौ बजे तक दरवाजा नहीं खुले। तबै दरवाजा तोड़ के घर मा घुस के देखा गा तौ मरी परी रहै। शिवमंगल जानैं के बाद भी हमरे ऊपर इल्जाम लगावत है।
गांव के मड़इन मा चर्चा रहैं कि जायदाद के चक्कर मा हत्या कीन गे है। बिसण्डा थानाध्यक्ष आर.पी. सिंह का कहब है कि अबै तक न पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई अउर न ही दरखास आई। या मारे कउनौ कारवही नहीं कीन जा सकत आय।