गांव मा काम नहीं मिलै

DSCN1514जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, कस्बा सरैंया, पुरवा बूढ़ी घाटी। हिंया के मड़ई कहिन कि पत्थर के खदान मा काम करित हन। यहिसे टी बी के बीमारी होइ जात हवै। प्रधान मनरेगा के तहत काम नहीं देत हवै। यहै से परेशान रहित हन।
पुरवा के राजू अउर लल्ला का कहब हवै कि लगभग एक हजार के आबादी हवै। हम सबै कोल जाति के मड़ई आहिन। प्रधान गीता देवी कुल सौ लोगन के जाब कार्ड बनवाइस हवै। उनका भी काम नहीं मिला। मजबूरी मा पत्थर के खदान मा काम करैं का परत हवै। कुछ लोग अपने परिवार वालेन का छोड़ के परदेश कमाये जात हवैं। पत्थर का काम करैं से टी बी के बीमारी होइ जात हवै। पिछले साल चुक्खा के टीबी के बीमारी से मउत होइगे रहै। काम खातिर 16 दिसंबर 2014 का एस.डी.एस. चन्द्र प्रकाश उपाध्याय का लिखित दरखास दीने रहेन।
प्रधान गीता देवी कहिस कि गांव मा दस पुरवा लागत हवैं। यहै से हर पुरवा के मड़इन का काम नहीं मिल पावत।
मानिकपुर एस.डी.एम. चन्द्र प्रकाश उपाध्याय कहिन कि प्रधान काहे काम नहीं देत आय पुरवा मा जांच करवाई जई।