गर्भवती मेहरारु के ताई नई सुबिधा

जिला फैजाबाद अउर अम्बेडकर नगर के ब्लाकन के आशा अउर ए.एन.एम. का नोकिया मोबाइल सेट दै जात बाय जेसे गांव के गर्भवती मेहरारु का स्वास्थ्य के बारे मा कउनौ दिक्कत न हुअय। सरकार सुबिधा तौ बहुत दियत बाय लकिन देखे वाली बात ई बाय कि यसे गांव के मनई का केतना फायदा हुआथै। काहे से आज तक यतना सुबिधा दिये के बावजूद कुछ न कुछ कमी जरुर रहि जाथै।
हर ब्लाक मा यहि समय सीयूजी नम्बर कै मोबाइल आशा अउर ए.एन.एम का दिया जात बाय। मोबाइल तौ मिल गै लकिन अबहीं प्रशिक्षण नाय दिया गै कि कब कब यकै प्रयोग करा जाये। हर ए.एन.एम. का अलग अलग नम्बर मिला बाय। गांव वाले यहि नम्बर पै फोन कइके कउनो भी जानकारी हुवय तौ अपने गांव के आशा ऐनम से सम्पर्क कै सकाथिन। नियम तौ सरकार बढि़या चलाये बाय लकिन सौचै वाली बात तौ ई बाय कि स्वास्थ्य केन्द्र मा केतनी सुबिधा मनई का मिल पावाथै। का नियम के अनुसार उनका सारी सुबिधा मिल पावाथै कि नाय। काहे से अस्पताल मा दवाई बाहर से लिख दियाथिन, डाक्टरन कै कमी, महिला डाक्टर कै कमी। जब डाक्टरन कै कमी रहाथै तौ सुबिधा कहां से मिल पाये?
जब आशा अउर ए.एन.एम. का सारी सुबिधा न मिले तौ वै मरीजन का कहां से देइहै। जैसे जब आशा के पास कउनौ दवा नाय बाय तौ गर्भवती मेहरारु मंगिहैं तौ कहां से देइहै? लकिन अबहीं तौ मोबाइल बंटत बाय बंटै के बाद जानकारी होये कि केतना लाभ मनईन का मिले।