गरमी में चला प्यास का कारोबार

02-06-14 Kshetriya Katrvi - Manikpur JNजिला चित्रकूट। चित्रकूट जिला पाठा क्षेत्र है। इस जिले में हमेषा पानी की समस्या बनी रहती है।
ब्लाक मऊ के खण्डेहा कस्बा के सप्लाई नल में पानी नहीं आता है। लोगों को लगभग आधा किलो मीटर दूर हैण्डपम्प पानी लेने जाना पड़ता है। प्रधान भइयन कोल के अनुसार छः महीने पहले नए हैण्डपम्प के लिए ब्लाक में अप्लीकेषन दी जा चुकी है।
ब्लाक रामनगर के कस्बा राजापुर वार्ड नम्बर सात में केवल एक हैण्डपम्प है। वह भी खराब होता रहता है। पानी की कमी है और लोग पानी के पाउच पर निर्भर हैं।
ब्लाक कर्वी के कस्बा षिवरामपुर में रेल्वे स्टेशन भीड़भाड़ वाला इलाका है। तब भी यहां सिर्फ दो हैण्डपम्प हैं। उसमें से एक हैण्डपम्प दो साल से खराब है। यात्रियों को पानी का पाउच और बोतल खरीदनी पड़ती हंै।
ब्लाक मानिकपुर के रेलवे स्टेषन पर पिछले साल झंासी से पानी का टैंकर आता था। इस साल वह भी नहीं आ रहा है। मानिकपुर रेलवे जंक्षन है। रोज़ हज़ारों यात्री आते जाते हैं, तब भी ऐसी स्थिति है। कैन्टीन के ठेकेदार बउवा ने बताया कि रोज़ लगभग पांच हज़ार पाउच बिक जाते हैं। एक हज़ार पाउच तो मुफ्त में रेलवे वाले और जी.आर.पी. और आर.पी.एफ थाना वाले ले लेते हैं।