गन्दा पानी निये खा मजबूर

गन्दे पानी खा हैण्डपम्प
गन्दे पानी खा हैण्डपम्प

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव कोनिया को मजरा छतेसर। एते के वार्ड नम्बर आठ में सात साल पेहले एक हैण्डपम्प लगो हतो। जोन एक साल से खराब परो हे। एई से एते के आदमी हैण्डपम्प लगवाये की मांग करत हें।
सन्तराम, लालता प्रसाद ओर कपूरी ने बताओ कि हमाये वार्ड में एक हैण्डपम्प लगो हतो। ऊ भी एक साल से खराब परो हे। एक महीना पेहले सड़क के ऊ पार एक हैण्डपम्प लगो हतो। जीखा पानी बोहतई गन्दो निकरत हे। एई से ऊ पानी नहाये धोये के काम भर आउत हे। सुमितरानी ने बताओ कि पानी के बिना कोनऊ काम नई होत आय। पानी भरे खे लाने दो सौ मीटर दूर वन विभाग में लगे ट्यूबवेल या फिर प्राइमरी स्कूल के हैण्डपम्प में जाने परत हे। ऊ तो नीेंक हे कि स्कूल को दरवाजा खुलो रहत हे। वन विभाग तो समय से बन्द हो जात हे। जब कहूं स्कूल या ट्यूबवेल से पानी नई भर पाउत आय तो ओई सड़क में लगो हैण्डपम्प को गन्दो पानी पीने परत हे। एई से हम चाहत हें कि हमाये एते एक हैण्डपम्प लग जाये तो नींक हो जाय।
प्रधान इन्द्रपाल ने बताओ कि मेंने एक साल पेहले हैण्डपम्प लगवाये खे लाने गांव में रीबोर कराओ हतो, पे पत्थर निकरें खे कारन ओते हैण्डपम्प नई लग पाओ हे। एई से दूसरी जघा एक हैण्डपम्प लगवा दओ हे।