खुलो परो नाला नई होत सुनवाई

m khrela kasba khabar photaजिला महोबा, ब्लाक चरखारी, कस्बा खरेला,जलीप मोहल्ला। एते के आदमियन को आरोप हे की चेयरमैन आपन मनमानी के कारन कोनऊ की सुनवाई नई करत हे। पन्द्रह साल से नाला खुलो परो हे। आज तक बन्द करें को ध्यान नई देत हे।
रामआसरे, भानसिंह ओर दलपत कहत हे की जा नाला पन्द्रह साल को नाला बनो हे। आज तक खुलो परो हे। कोनऊ ने बन्द करायें की कोशिश नई करी हे। जभे की तीन चेयरमैन हो चुके हे। सब चुनाव के पेहले बड़े-बड़े वादा करत हें। जीते के बाद सब भूल जात हे। श्यामलाल ओर आशराम कहत हे की नाला की लम्बाई दो सौ मीटर हो हे जोन खुला परो हे। हमने ई चेयरमैन सिद्धगोपाल से केऊ दइयां कहो हे की द्वारे मे चीपा धरा देय, नाला बन्द हो जेहे। काय से खुले नाल में बच्चन के गिरें को डर बनो रहत हे। भूपसिंह कहत हे की नाला खुलो होंय के कारन मच्छर भी बोहतई लगत हे। मच्छर के कारन बिमारी फेलत हे। हम गरीब आदमी एक एक रुपइया खा परेशान रहत हे। बिमारी में एक दइयां के इलाज में कम से कम पांच सौ रुपइया लग जात हे। ई मोहल्ला में कोनऊ न कोनऊ बिमार बनो रहत हे। सरकारी अस्पतालन में जाओ ओते कोनऊ नईं सुनत हे। एई से हम सोचत हे की अगर नाला बन्द हो जाये तो नींक हो हे।