खुले नाला से आदमी परेशान

M charkhari kasbaजिला महोबा, ब्लाक चरखारी, कस्बा चरखारी भैरवगंज। एते के नाला खा बने दस साल हो गये, आज तक चीपा नई धरे हे ओर न ही ऊपर से पटो हे। जीसे छोट्-छोट् बच्चा गिर जात हे।
अनीष ओर उदित नारायन कहत हे की जा नाला दस साल पेहले नगर पालिका केती से बनो कहो। ई नाला की लम्बाई लगभग दे सौ मीटर हे। तभे आज नक नई पटो हे ओर न चीरा धरे हे। जीसे निकरे में परेशानी होत हे। बच्चा भी गिर जात हे। कल्लू, छुटट्न ओर राजू साहू कहत हे की निकरे में तो परेशानी होतई हे, साथे मच्छर भी बोहतई लगत हे। शाम होतई कोनऊ अपने द्वारे में नईं बेठत हे। मच्छर के कारन मलेरिया जेसी बिमारी फेलत हे। दिन भर बच्चन खा देखने परत हे। नाला बनवाये के लाने हमने केऊ दइयां नगर पालिका ओर चेयर मैन से कहो हे की नाला खे पटवा देय, पे अपने अगांऊ कोनऊ खा नईं ध्यान नई देत हे। हम लोग अपने निकरें के लाने खुद से चीरा धरे हें। चरखारी कस्बा के चेयर मैन रूक्साना खातून को आदमी मुइनउद्दीन कहत हे की ओते की रास्ता ओर नाला खे दुबारा से बनवाने हे। तभई ­पर से पटाओ जेहे। नाला बनवायें के लाने एक महीना लग जेहे।